हिन्दी कॉमेडी फिल्म ‘इन्दु की जवानी’ का ट्रेलर यूट्यूब पर रिलीज़ हो चुका है। इस फिल्म में कियारा आडवाणी, आदित्य सील और मल्लिका दुआ हैं। कियारा हाल ही में फ़्लॉप फ़िल्म ‘लक्ष्मी’ में नज़र आयी थीं। ‘इन्दु की जवानी’ टी-सीरीज, एम्मे एंटेरटेनमेंट और इलेक्ट्रिक एपल्स के बैनर तले बनी है।  

खैर, ट्रेलर से लगता है कि यह बॉलीवुड की एक और पाकिस्तानी प्रचार फिल्म है। Pk के एक भयानक स्मरण में, आदित्य सील एक पाकिस्तानी मुस्लिम व्यक्ति, समर, का किरदार निभा रहे हैं, जो कि एक भारतीय हिंदू महिला इंदिरा गुप्ता के साथ कास्ट किए गए हैं, जो किआरा निभा रही हैं।

फिल्म के ट्रेलर को देखते ही समझ आ रहा है कि यह फिल्म बॉलीवुड के निर्माताओं द्वारा किए जा रहे पाकिस्तानी प्रोपेगंडा की एक और कड़ी है। हालांकि फिल्म को एक सिचुएशनल कॉमेडी के रूप में प्रचारित किया जा रहा है।

इन्दिरा उर्फ़ इंदू को दिखाया गया है की वो गाज़ियाबाद की रहने वाली है। जहां एक ओर इस उम्र के युवा अपना कैरियर बनाने की चिंता में व्यस्त रहते हैं, वहीं इन्दु डेटिंग के लिए बॉय फ्रेंड तलाश रही है। इंदू को डेटिंग के लिए कोई अच्छा लड़का नहीं मिलता है तो उसकी सहेली सोनल (मल्लिका दुआ) उसे एक डेटिंग एप के बारे में बताती है। फाइनली इंदू को एक डिलिवरी बॉय पसंद आता है लेकिन बाद में पता चलता है कि वह पाकिस्तानी है। इंदू को लगता है कि यह पाकिस्तानी है तो आतंकवादी ही होगा। ट्रेलर को देख कर अंदाजा लगाया जा सकता है कि सारी फिल्म एक पाकिस्तानी लड़के को अच्छा साबित करने की कवायद के अलावा कुछ भी नहीं है। फिल्म हमें यह भी बताती है कि हम आम हिंदुस्तानी पाकिस्तान और पाकिस्तानियों के बारे में पूर्वाग्रहों से ग्रस्त हैं।  

हमारी सहानुभूति उन लोगों के साथ है जो दिन में सपने देखते हैं और उनके सपनों में पाकिस्तान एक मित्र देश है और वहाँ के निवासी हमेशा हिंदुस्तान का भला सोचते हैं।  जबकि दुनिया जानती है कि पाकिस्तान वर्षों से इस्लामिक आतंकवाद का गढ़ रहा है और वहाँ की आम मुस्लिम जनता भी पाकिस्तानी अल्पसंख्यकों जिनमें हिन्दू और ईसाई प्रमुख रूप से शामिल हैं पर अत्याचार करने में कोई कसर नहीं छोड़ती है। पाकिस्तानी मुस्लिम युवकों द्वारा हिन्दू और ईसाई लड़कियों के साथ बलात्कार और जबर्दस्ती धर्म परिवर्तन वहाँ आम बात है।  

फिल्म के ट्रेलर में समर को एक सभ्य, नेकदिल, शांत स्वभाव के व्यक्ति के रूप में दिखाया गया है, जो ‘कश्मीर की कली’ जैसी पुरानी भारतीय फिल्मों से प्यार करता है, लगभग पीके के सरफराज की तरह। दूसरी ओर किआरा के चरित्र इंदु को बहुत चंचल और अनेक युवकों से संबंध रखने वाली लड़की के रूप में दिखाया गया है।

‘इन्दु की जवानी’ और इस जैसी कई फिल्मों को देखकर लगता है कि बॉलीवुड में फिल्म निर्माताओ, लेखकों और कलाकारों की एक लॉबी ने पाकिस्तान और पाकिस्तानियों को अच्छा इंसान साबित करने का ठेका लिया हुआ है। इसका सबसे शानदार उदाहरण आमीर खान स्टारर ‘पीके’ है जिसे पाकिस्तान में एंटी-इंडिया कैम्पेन चलाने वाले ARY मीडिया ग्रुप ने रिलीज किया था। ‘बजरंगी भाई जान’ और ‘एक था टाइगर’ इसी कड़ी की कुछ और फिल्में हैं।  

इंदु की जवानी निखिल आडवाणी द्वारा सह-निर्मित है। निखिल आडवाणी ने इससे पहले ‘बाटला हाउस – एक केस स्टडी’ बनाई थी जिसमें कुरान का महिमा मंडन कर ऐसे युवकों को दोषी ठहराया गया था, जो कुरान की आयतों के वास्तविक अर्थ को समझने में नाकाम रहे और गलती से भटक कर आतंकवादी बन थे। इस फिल्म में भी यह साबित करने की कोशिश की गई थी कि इस्लाम एक तथाकथित “शांतिप्रिय” धर्म है, बस कुछ लोग भटक गए हैं।  

फिल्म के ट्रेलर को देख कर लगता है कि भारतीय फिल्म फाइनेंसरों के पास पैसा खत्म हो गया है और निर्माताओं को मजबूरी में पाकिस्तान से पैसा लेकर उनका प्रचार करती हुई फिल्में बनानी पड़ रही हैं। आपको बता दें कि पाकिस्तान में ‘हिन्दू पुरुष-मुस्लिम महिला’ थीम पर बनी बॉलीवुड की फिल्मों को पसंद नहीं किया जाता है। भले ही फिल्म में दिखाया गया हो कि हिन्दू युवक मुस्लिम महिला से शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन कर इस्लाम अपनाने को भी तैयार हो।

आपको यह याद दिला देना भी उचित होगा कि पाकिस्तान सरकार ने बरसों पहले सनी देयोल अभिनीत सुपर हिट हिन्दी मूवी गदर और  हाल ही में रांझणा और इशकजादे जैसी फिल्मों पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया था।

रांझणा के मामले में, पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड ने स्पष्ट रूप से लिखित रूप में इस कारण का उल्लेख किया था (हिंदी में ट्रैन्स्लेटेड), “फिल्म में एक मुस्लिम लड़की (सोनम कपूर द्वारा निभाई गई) की एक अयोग्य छवि का चित्रण है जो एक हिंदू व्यक्ति के साथ प्यार में पड़ती है और उसके साथ संबंध रखती है।”

फिल्म 11 दिसंबर को रिलीज होने वाली है। अंतिम बार देखा था तो, इस ट्रेलर को 10 लाख बार देखा गया था, जिसमें लगभग 2 लाख लाइक्स और 35,000 नापसंद थे।

%d bloggers like this: